मंदिर राजनीति में कूदे अखिलेश यादव, बोले सत्‍ता में आए तो भगवान विष्णु का बनवायेंगे मंदिर


लखनऊ। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र पहले से ही नेताओं ने धर्म राजनीती शुरू कर दी। मंदिर राजनीति में कूदते हुए समाजवादी पार्टी के मुखिया बोले अखिलेश यादव ने बुधवार को ऐलान किया कि अगर वह सत्‍ता में आए तो उत्‍तर प्रदेश में भगवान विष्णु का नगर विकसित किया जाएगा और इसमें भव्य मंदिर भी होगा। उन्‍होंने कहा कि भगवान विष्‍णु का यह मंदिर कंबोडिया के विश्‍व प्रसिद्ध अंकोरवाट मंदिर की तरह होगा।

अखिलेश यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘हम भगवान विष्णु के नाम पर लायर सफारी इटावा के निकट 2000 एकड़ से अधिक भूमि पर नगर विकसित करेंगे। हमारे पास चंबल के बीहड़ में काफी भूमि है। इस नगर में भगवान विष्णु का भव्य मंदिर होगा। यह मंदिर कंबोडिया के अंकोरवाट मंदिर की तरह होगा ।’

बता दें कि बीजेपी नेता और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने पिछले सप्ताह राम मंदिर का मुद्दा उठाते हुए कहा था कि अयोध्या में मंदिर के निर्माण के लिए विधायी रास्ता अपनाया जा सकता है। इसके बाद अखिलेश यादव ने यह बयान दिया है। राम मंदिर मुद्दे पर सीधा जवाब देने से बचते हुए अखिलेश ने वादा किया कि अगर सत्ता में आये तो भगवान विष्णु का एक नगर निश्चित तौर पर विकसित किया जाएगा, जिनके अवतार भगवान राम और भगवान कृष्ण थे।

उन्‍होंने कहा कि इसके अध्ययन के लिए विशेषज्ञों की एक टीम कंबोडिया भेजी जाएगी। यह शहर हमारे अतीत की संस्कृति और ज्ञान का केंद्र होगा। कंबोडिया का अंकोरवाट विश्व के सबसे विशाल धार्मिक परिसर में से एक है। वह मूल रूप से भगवान विष्णु को समर्पित हिन्दू मंदिर था, जो धीरे-धीरे बौद्ध मंदिर में तब्दील हो गया।

बीजेपी पर निशाना साधते हुए बोले भगवान विष्णु के सभी अवतार हमारे, भाजपा को इसमे परेशानी क्या है। जो जमीनी स्तर पर कुछ नहीं करती है और वोट के लिए जनता को बेवकूफ बनाती है। बता दें कि बिहार के पूर्वी चंपारण जिले में अंकोरवाट की तर्ज पर विराट रामायण मंदिर बनाए जाने की योजना है जिसका कंबोडिया की सरकार ने विरोध किया है।

कंबोडिया सरकार का कहना है कि विराट रामायण मंदिर का डिजायन अंकोरवाट मंदिर की नकल है। कंबोडिया दूतावास ने विदेश मंत्रालय को एक पत्र लिखकर अपना विरोध दर्ज कराया है। उसका कहना था कि अंकोरवाट मंदिर विश्व विरासत स्थल है और कंबोडिया के राष्ट्रीय ध्वज पर अंकित प्रतीक भी है। कंबोडिया सरकार के ऐतराज के बाद इस मसले पर केंद्र सरकार ने बिहार सरकार और मंदिर के प्रस्तावकों से इस संबन्ध में बात की है और प्रस्तावित मंदिर के डिजायन में बदलाव करने की सलाह दी है।

वही कन्नौज में 7 साल की बच्ची को पानी मे डूबने से बचाने वाले बच्चे को अखिलेश यादव ने उसकी बहादुरी पर 21 हजार की चेक देकर सम्मानित किया। लखीमपुर बच्ची के साथ हैवानियत के मामले पर बोले, प्रदेश में अपराध काबू में नहीं है, लॉक डाउन में भी अपराध पर लगाम नही लगा पा रही सरकार। सरकार के विधायक आम जनता सब परेशान है। अस्पतालों में दवाई नही है। अलीगढ़ विधायक पुलिस विवाद पर कहा कि मुख्य मंत्री सदन में कहेंगे कि ठोको तो विधायक पुलिस को पुलिस विधायक को थोक रही, ये सब सिखा कौन रहा है। सपा सरकार में किसानों के हितों के लिए किए गए कार्यो को भाजपा सरकार छीनने का काम कर रही।


Leave a Reply

Your email address will not be published.