निजी स्कूल पर जबरन फीस भरवाने का लगा आरोप, अभिभावकों ने किया प्रदर्शन


बिजनौर। ज़हीर अहमद: बिजनौर के एम डी पब्लिक स्कूल के बाहर अभिभावकों ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए किया प्रदर्शन। स्कूल प्रशासन द्वारा फोन पर फीस जमा करने के दबाव को लेकर स्कूल प्रशासन से मिलने पहुंचे थे अभिभावक। एम डी पब्लिक स्कूल के अंदर ना जाने देने को लेकर अभिभावकों ने किया स्कूल गेट पर प्रदर्शन। अभिभावकों का आरोप है की लॉकडाउन मेंं व्यापार पर पड़े प्रभाव को लेकर फीस जमा करने में जताई असमर्थता कहा जब स्कूल बंद है तो बिल्डिंग लैब फीस और अनेकों प्रकार फीस का मतलब ही नहीं बनता देने का। अभिभावकों ने लॉक डाउन की फीस माफी की भी मांग की।

दरअसल यह पूरा मामला बिजनौर के मंडावर रोड स्थित एम डी पब्लिक स्कूल का है। जहां अभिभावकों ने एम डी पब्लिक स्कूल पर आरोप लगाते हुए कहा कि स्कूल प्रशासन लगातार अभिभावकों पर फीस जमा करने का दबाव बना रहा है। जिसको अभिभावक लॉक डाउन की वजह से जमा करने में असमर्थ है, क्योंकि अभिभावक मीडियम क्लास से ताल्लुक रखता है जो नौकरी पर्सनल कारोबार आदि करता है और लॉक डाउन की वजह से वह प्रभावित हुआ है। यह लोग ऑनलाइन क्लास लगा रहे हैं अगर यह क्लास में 40 से 50 बच्चे हैं तो मुश्किल से ऑनलाइन क्लास में चार पांच या 10 बच्चे ही जुड़ रहे हैं क्योंकि मीडियम क्लास के लोगों में किसी के पास मोबाइल नहीं है तो किसी पर लैपटॉप नहीं है।

कोई अभिभावक मोबाइल नौकरी पर साथ ले जाता है तो कोई दुकान पर अपने साथ ले जाता है और बच्चे की पढ़ाई इससे प्रभावित होती है। यह लोग फीस जमा न करने पर नाम काटने का दबाव बना रहे हैं। हमारी मांगे हैं कि जब से लॉक डाउन लगा है 3 महीने की फीस माफ की जाए और उसके बाद से जब से ऑनलाइन क्लासेज चल रही है उसकी हम फीस नहीं देंगे बल्कि हम ऑनलाइन क्लासेस की ट्यूशन फीस हम देंगे हम एक्स्ट्रा कोई भी फीस नहीं देंगे।


Leave a Reply

Your email address will not be published.