राममंदिर भूमिपूजन कार्यक्रम प्रारम्भ, रखी जाएगी राम मंदिर की आधारशिला


राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन शुरू हो चूका है। भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही 175 प्रतिष्ठित अतिथि भी शामिल है। कार्यक्रम को लेकर बनाए गए मंच पर पीएम मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास समेत केवल पांच लोग है। पीएम मोदी सभी पूजा-अर्चना के नियमों का पालन करते हुए इस कार्यक्रम की शुरुवात की। सबसे पहले उनके हाथ धुलवाए गए और मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी मुख्य स्थान पर बैठे हुए हैं। राम जन्मभूमि परिसर में पारिजात वृक्ष का रोपण करके मोदी जी ने राम मंदिर निर्माण की भूमि पूजन की प्रक्रिया विधिवत रूप से शुरू की।

बता दें पहले हनुमानगढ़ी जाकर उन्होंने भगवान बजरंग बली का आशीर्वाद लिया और वहां से राम जन्मभूमि के लिए निकलकर सिर्फ दो ही मिनट में पहुंच गए। कोरोना संकट के कारण उन्हें टीका भी नहीं लगाया गया। प्रधानमंत्री ने हनुमानगढ़ी मंदिर में कुछ दान भी चढ़ाया है। अब रामलला के दर्शन के साथ ही उन्होंने भूमिपूजन की शुरुवात कर दी है।

पीएम मोदी ने रामलला के दर्शन किए और वहां अपना शीश नवाया। करोड़ों राम भक्तों का सालों का इंतजार आज पूरा हो रहा है जब राम मंदिर की आधारशिला रखी जाएगी। उसके बाद विधिवत रूप से राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के ट्रस्टी स्वामी परमानंद ने बताया कि फिलहाल जैसे ही भूमि पूजन का कार्यक्रम पूरा होगा उसके बाद से ही जल्द से जल्द मंदिर निर्माण को लेकर काम शुरू हो जाएगा। इसी के मद्देनजर ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण करने वाली कंपनी को मंदिर निर्माण पूरा करने के लिए अगले 32 महीने का वक्त दिया है यानी अब से 2 साल 8 महीने बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरा हो सकता है।

यह पल पुरे देश के लिए बेहद आध्यात्मिक और भावुक है। सालों का इंतजार अब समाप्त हो चुका है। राम जी अपने स्थान पधार चुके है। हर तरफ हर्षोल्लाष का माहौल छाया हुआ है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.