एसओजी टीम ने किया रायबरेली सर्राफा से लूटकांड मामले का खुलासा


रायबरेली। असद खान: यूपी के रायबरेली में ताबड़तोड़ हो रही वारदातों से हैरान पुलिस ने उस समय चैन की सांस ली जब उन्होंने 28 जुलाई को लालगंज कोतवाली क्षेत्र में सर्राफा से हुई की गई लूट मामले का खुलासा करते हुए वारदात को अंजाम देने वाले पांच आरोपियों को धर दबोचा। उनके पास से लूटा गया लाखों की कीमत के जेवरात भी बरामद कर लिए।

कल रात लालगंज क्षेत्र के मगही मोड़ के पास के जंगल मे पुलिस ने जब दबिश दी तो वंहा मौजूद बदमाशो ने एसओजी टीम पर फायरिंग कर दी। जिससे टीम का एक सिपाही घायल हो गया। जवाबी फायरिंग में एक बदमाश भी घायल हुआ और उसका एक साथी मौके से पकड़ा गया। उनसे पूछताछ के बाद वारदात में शामिल उनके तीन साथियों को भी पुलिस ने दबोच लिया। उनके पास से दो तमंचे व कारतूस और लूट का माल भी बरामद कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक ने एसओजी टीम को पंद्रह हजार रुपये पुरुस्कार में देने की घोषणा कि।

दरअसल 28 जुलाई को जिले के लालगंज कस्बे के सर्राफा व्यापारी आशीष बाजपेई अपने ग्राहकों से मिलकर वापस लालगंज लौट रहे थे। जैसे ही उनकी बाइक जगतपुर रामगढ़ी गांव के पास पहुची सड़क किनारे खड़े एक युवक ने उनपर डंडे से हमला कर दिया और उनके पास मौजूद बैग को लेकर फरार हो गया। बैग में लाखो की कीमत के जेवरात थे। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू की। आलाधिकारियों ने मामले की कमान एसओजी टीम को सौंप दी।

कल रात टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ लोग कोतवाली क्षेत्र के मगही मोड़ के पास के जंगल मे लूट के माल का बंटवारा कर रहे है। मौके पर पहुची एसओजी टीम ने जब आवाज दी तो वंहा मौजूद बदमाशो ने टीम पर फायरिंग कर दी। जिससे टीम का एक सिपाही सुरेश घायल हो गया। पुलिस की जवाबी फायरिंग में सोनू यादव नाम के बदमाश को भी गोली लगी। मौके से फरार हो रहे उसके साथी छोटू को भी पुलिस ने धार दबोचा। इनसे पूछताछ के बाद इनके तीन साथी नवनीत, लवकुश व विमलेश को भी दबोच लिया और इनके पास से दो तमंचे, कारतूस, दो बाइक, एक आधार कार्ड व लूटे गए लाखो के जेवरात बरामद कर लिए। वारदात का खुलासा करने वाली एसओजी टीम को पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने 15 हजार का पुरुस्कार देने की घोषणा भी की।


Leave a Reply

Your email address will not be published.