रामपुर: विश्वविद्यालय में किसानों की ज़मीन को धोखाधडी से कब्ज़ाने के सम्बन्ध में आज़म खाॅ और उनके करीबियों के ख़िलाफ़ एस.आई.टी रामपुर द्वारा लगाया गया आरोप पत्र


रामपुर। रवि सैनी: रामपुर के जौहर ट्रस्ट की ज़मीन को लेकर दर्ज मुकदमों में सांसद आज़म खां के 11 करीबियों के खिलाफ पुलिस ने  कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। मुकदमों की विवेचना के दौरान पुलिस ने ट्रस्ट के सभी पदाधिकारियों और सदस्यों का नाम भी इसमें शामिल कर लिया था। पुलिस ने इन सभी को धारा 41 (क) के तहत नोटिस जारी किया था।

जौहर ट्रस्ट की जमीन को लेकर पुलिस ने कई मुकदमे दर्ज किए गए हैं। आलियागंज के 26 किसानों ने अपनी जमीन पर कब्ज़ा कर लेने के मामले में अज़ीमनगर थाने में अलग-अलग मुकदमा दर्ज कराया था। इसके अलावा प्रशासन की ओर से अलग से मुकदमा दर्ज कराया था। इन मुकदमों में सांसद आज़म और उनके करीबी पूर्व सीओ आले हसन को आरोपी बनाया गया था। इन मुकदमों की जांच के लिए पुलिस ने विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया था।

मुकदमों की विवेचना के दौरान एसआईटी में उन सभी लोगों का नाम शामिल कर लिया था, जो जौहर ट्रस्ट के पदाधिकारी या सदस्य हैं।  इन सभी को पुलिस की ओर से नोटिस भी जारी किया गया था। अब पुलिस ने इस मामले में 11 लोगों के खिलाफ चार्जशीट लगा दी है। एसपी शगुन गौतम ने 11 लोगों के ख़िलाफ़ चार्जशीट लगाए जाने की पुष्टि की है। 

किस-किस को पुलिस ने धारा 41 (क) के तहत दिया है नोटिस:-

जौहर ट्रस्ट के संयुक्त सचिव और विधायक नसीर अहमद खां, ट्रस्ट के उपाध्यक्ष मुश्ताक अहमद सिद्दीकी, आज़म खां की बहन और ट्रस्ट की कोषाध्यक्ष निकहत अफलाक, आज़म खां के पुत्र और ट्रस्ट के सदस्य अदीब आज़म, डीसीबी के पूर्व चेयरमैन और ट्रस्ट के सदस्य सलीम कासिम सहित अन्य कई लोग।


Leave a Reply

Your email address will not be published.