मेरठ: ऋषभ एकाडेमी स्कूल प्रकरण को लेकर रंजीत जैन के प्रवक्ता ने की प्रेस वार्ता


मेरठ। मानीश पराशर: ऋषभ एकाडेमी मेरठ कैंट के सचिव रंजीत कुमार जैन के प्रवक्ता अभिनव जैन ने सचिव के आदेश पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जिसमें निम्नलिखित बातों का उल्लेख किया और उनके और उनके पिता के खिलाफ रचे जा रहे षड्यंत्र और झूठे आरोपों के विरोध में तमाम सबूत पेश किए।

प्रवक्ता अभिनव जैन ने बताया चारू जैन द्वारा मुख्यमंत्री पोर्टल पर मार्च अंत या अप्रैल के शुरू के हफ्ते में भेजी गई एक शिकायत जिसके अंदर सिर्फ स्कूल में फरवरी माह एवं मार्च माह के वेतन ना मिलने की बात लिखी गई थी। जिसमें की यौन उत्पीड़न या स्कूल में गर्ल्स एवं लेडीज टॉयलेट में कोई कैमरा होने की बात का कोई जिक्र नहीं है। आपको बता दें अभी 15 सितंबर को ही स्कूल की अध्यापिका ने स्कूल के सचिव रंजीत जैन पर सैलरी ना देने महिला शौचालय में कैमरा लगाने और यौन शोषण का आरोप तक लगाया था।

जिसके बाद पुलिस ने रंजीत जैन के बेटे और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया था। जिसके बाद थाना सदर पुलिस ने रंजीत जैन के बेटे को जेल भेज दिया था, जिसके बाद पुलिस कोई पुख्ता सबूत पेश नहीं कर पाए। जिसके कारण रंजीत जैन के बेटे को और रंजीत जैन को जमानत मिल गई थी। उसी प्रकरण को लेकर आज रंजीत जैन के प्रवक्ता अभिनव जैन ने प्रेस वार्ता आयोजित की थी, जिसमें उन्होंने बताया क्या उनके उनके पिताजी के खिलाफ षड्यंत्र रचा जा रहा है, ना तो उनके पिताजी ने स्कूल में कोई घोटाला किया है ना ही यौन शोषण।

पूरे प्रकरण में स्कूल के सचिव रंजीत जैन मानसिक और शारीरिक रूप से काफी बीमार चल रहे हैं, अभी हाल ही में उनका दिल का ऑपरेशन भी हुआ है। ऑपरेशन के बाद मीडिया एवं स्कूल स्टाफ या किसी अधिवक्ता से बात करने के लिए रंजीत जैन ने अपने पुत्र को अपना प्रवक्ता नियुक्त किया है। जिसके बाद आज अभिनव जैन ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि यह सारा षड्यंत्र स्कूल की जमीन कबजाने को लेकर है स्कूल के ट्रस्टी श्रेयांश जैन, अजय जैन और स्कूल के सीए संजय जैन स्कूल की जमीन कबजाने के लिए यह सारा षड्यंत्र रच रहे हैं। उनको डर है कि स्कूल की जमीन में ऐसे कबजाएंगे तो शायद रंजीत जैन उनके रास्ते का कांटा बन सकता है। इसीलिए रंजीत जैन के खिलाफ यौन शोषण और घोटाले का षड्यंत्र स्कूल की अध्यापिका ओं के साथ मिलकर संजय जैन रच रहा है।

प्रवक्ता अभिनव जैन ने यह भी बताया के स्कूल का ट्रस्टी वही बन सकता है जो दिगंबर ट्रस्ट का सदस्य हूं, लेकिन अजय जैन जो कि अपने आप को सीए बताता है वह फर्जी तरीके से लगभग 8 दिन से स्कूल में बैठ रहा है। प्रधानाचार्य और स्कूल की अध्यापिका को डराया धमकाया जा रहा है, उनसे लगातार रंजीत जैन और अभिनव जैन पर गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं। लेकिन वह इन लोगों का काला चिट्ठा सबके सामने उजागर करेंगे। उन्होंने कहा की अगर वह दोषी हैं तो उन्हें सजा जरूर मिलेगी नहीं तो वह लोगों पर मानहानि का दावा करते हुए इन्हें उच्च न्यायालय तक घसीटेंगे।

ऋषभ स्कूल में करोड़ों रुपए का घोटाले का खेल कई सालों से चला आ रहा है। जिसमें अब रंजीत जैन को निशाना बनाया जा रहा है। जबकि इससे पहले जो ट्रस्टी रहे हैं उन्होंने भी अब से पहले घोटाले किए हैं लेकिन आज तक भी उनके नाम उजागर नहीं हुए। किसी भी महिला शौचालय में कैमरा नहीं लगाया, क्या सिर्फ आरोप लगाए जा रहे हैं उनको साबित नहीं किया जा रहा।

क्योंकि जिन आरोपों में उनके पिता को और उनको जेल भेजा गया उन आरोपों को पुलिस भी सिद्ध नहीं कर पाए और उन्हें जमानत मिल गई। सारा षड्यंत्रयंत्र करोड़ों रुपए की जमीन पर बना ऋषभ स्कूल है जिस जमीन को कबजाने के लिए अब सीए संजय जैन और अजय जैन लगातार षड्यंत्र रच रहे हैं इनके खिलाफ मेरठ के तमाम वरिष्ठ अधिकारियों को शिकायत करके कार्यवाही करने के लिए गुहार लगाई है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.