सिस्टम से पीड़ित डॉक्टर ने की इस्तीफे की पेशकश


डाक्टर विवेक श्रीवास्तव एसीएमओ

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों को टीवी यानी क्षय रोग के मरीजों को ढूंढने और उनके इलाज का लक्ष्य दिया था। महराजगंज जनपद को भी 263 मरीजों का लक्ष्य मिला था जिसमें लक्ष्य के सापेक्ष 132 मरीजों को ढूंढ कर उनके इलाज की समुचित व्यवस्था कराई गई। पूरे प्रदेश में महराजगंज लक्ष्य के सापेक्ष 65 फ़ीसदी मरीजों को ढूंढने में सफल रहा और प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त किया।


महराजगंज में ACMO/DTO के पद पर कार्यरत डॉ विवेक श्रीवास्तव,इस कोरोना महामारी में भी पूरी निष्ठा और ईमानदारी से क्षेत्र में सक्रिय हैं बावजूद इसके विभागीय अधिकारियों द्वारा इनका शोषण किया जा रहा है डॉ विवेक श्रीवास्तव द्वारा लिखा गया एक प्रार्थना पत्र सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वायरल पत्र को डॉ विवेक श्रीवास्तव ने पूरी तरह सत्य बताया है,आखिर किस तरह से कोई डॉक्टर या स्वास्थ्य कर्मचारी कार्य करें और इन ब्यूरोक्रेट्स को खुश रखे यह इनकी समझ के परे है, सिस्टम से पीड़ित डॉक्टर विवेक श्रीवास्तव ने अपने इस्तीफे की पेशकश की है।

बीते दिनों मंडलायुक्त ने स्पष्ट तौर पर डॉक्टरों को हिदायत दी की टीवी जेई और एईएस से मौतों के लिए सीधे तौर पर डॉक्टर जिम्मेदार होंगे और उनके ऊपर मुकदमे दर्ज करा कर न्यायिक जांच कराई जाएगी सिस्टम से परेशान डॉ विवेक श्रीवास्तव ने इस्तीफा स्वीकार करने की मांग किया है। प्रयागराज के रहने वाले डॉ विवेक श्रीवास्तव ने अपना इस्तीफा महराजगंज के सीएमओ को सौंपते हुए आज प्रयागराज के लिए रवाना हो गए हैं। डॉ विवेक श्रीवास्तव द्वारा लिखा गया यह पत्र महराजगंज की सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है |


Leave a Reply

Your email address will not be published.