मेरठ: कार में अस्पताल कर्मी महिला को नशीला पदार्थ पिलाकर प्रेमी ने अपने दोस्तों के साथ किया गैंगरेप


मेरठ। मनीष पराशर: मेरठ मोबाइल पर आई कॉल एक युवती को जिंदगी भर का जख्म दे गई। युवती ने आई कॉल पर युवक से बातचीत शुरू की तो युवक ने उसको अपनी बातों के जाल में फंसा लिया। इसके बाद युवक ने पहले दोस्ती का आफर रखा। दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गई। युवती ने युवक के ऊपर भरोसा किया और उसके साथ कार में चली गई। युवती को नशीला पदार्थ पिलाकर प्रेमी ने अपने दोस्तों के साथ कार में ही गैंगरेप किया। होश में आई युवती ने जब इसका विरोध किया तो आरोपी उसको जान से मारने की धमकी देते हुए बीच सड़क पर उतारकर फरार हो गए। युवती ने इस संबंध में थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। युवती की रिपोर्ट पर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला मेडिकल थाना क्षेत्र का है। जहां की रहने वाली एक युवती ने थाने में दी तहरीर में बताया कि उसके पास करीब 6 महीने पहले एक काल आई। युवती ने फोन उठाया और कालर से बात की। बात करने वाले युवक को वो जानती नहीं थी। इस पर उसने फोन काट दिया। लेकिन फिर कुछ दिनों बाद उसी नंबर से फोन आया। युवक ने उसको अपनी बातों में उलझा लिया। इसके बाद उसने दोस्ती का आफर रखा। युवती उसकी बातों के झासें में आ गई। इसी बीच लॉकडाउन लग गया और दोनों एक-दूसरे से फोन पर बाते करते रहे। प्रेमी ने युवती को कार से घुमाने की इच्छा जताई तो वह मना नहीं कर सकी। युवती के कार में बैठते ही कुछ दूरी चलने पर युवक के दो दोस्त और मिल गए।

रास्ते में उन्होंने कोल्डड्रिंक और खाने पीने का सामान लिया। युवकों ने उसको कोल्डड्रिंक में नशे की गोलिया मिलाकर पिला दी। जिसके बाद वो बेहोश हो गई। युवकों ने उसके साथ गैंग रेप किया। होश में आने पर जब उसने विरोध किया और पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाने की बात कही तो आरोपियों ने जान से मारने की धमकी देते हुए उसको नीचे उतार दिया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने कार भी बरामद कर ली है।

मेरठ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने बताया के पहले युवक ने युवती को अपनी बातों में बहला-फुसलाकर दोस्ती आगे बढ़ाने के बाद उसको कार में घुमाने के लिए बोला जिस पर युवती ने इनकार नहीं किया और अस्पताल से शाम को छुट्टी के समय युवक के साथ कार में बैठ कर चली गई जिस व्यक्ति के साथ कार में गैंगरेप हुआ है उस कार पर फर्स्ट न्यूज़ चैनल के नाम से आगे और पीछे शीशे पर लोगों लगा है पुलिस का मानना है कि इस गैंगरेप में एक पत्रकार भी शामिल है उसकी भी जांच की जा रही है जल्द ही ऐसे फर्जी पत्रकारों के खिलाफ भी एक अभियान पुलिस द्वारा चलाया जाएगा जो पत्रकार जगत में पत्रकारिता को बदनाम कर रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.