COVID-19: कोरोना से यूपी सरकार की शिक्षा मंत्री कमला रानी का निधन, सीएम ने अपना अयोध्या दौरा स्थगित किया


लखनऊ। आज योगी आदित्यनाथ सरकार में प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमला रानी का लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में निधन हो गया। वह कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण पीजीआई में भर्ती थीं। निधन की पुष्टि एसजीपीजीआई के सीएमएस डॉक्टर अमित अग्रवाल ने की है। वहीँ मंत्री कमला रानी के निधन की सूचना के बाद सीएम योगी ने आज का अपना अयोध्या दौरा स्थगति कर दिया है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का प्रकोप उत्तर प्रदेश में लगातार बना हुआ है। रविवार को कोरोना वायरस से प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमला रानी का लखनऊ पीजीआइ में निधन हो गया।

इसकी पुष्टि सीएमएस डॉक्टर अमित अग्रवाल ने पुष्टि की है। सीएमएस डॉ अमित अग्रवाल ने बताया कि उन्हें सीवियर कोविड-19 निमोनिया हो गया था। इस वजह से वह एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिंड्रोम में चली गई थी। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। कोरोना के लिए निर्धारित रेमडेसिविर समेत अन्य निर्धारित दवाएं उन्हें लगातार दी जा रही थी, लेकिन सुधार नहीं हो रहा था।

मंत्री कमला रानी को पहले से ही डायबिटीज, हाइपरटेंशन व थायराइड से जुड़ी समस्या थी। उनका ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो गया था। हालांकि शुरुआत के 10 दिनों में उनकी तबीयत स्थिर रही, लेकिन पिछले 3 दिनों से अचानक स्थिति खराब होने लगी। शनिवार की शाम करीब 6:00 बजे तबीयत ज्यादा बिगड़ने के बाद उन्हें बड़े वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया।

रविवार को सुबह 9:00 बजे उनका निधन हो गया। बीते 18 जुलाई को शाम 5:24 बजे उन्हें एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया था। तब से वह लगातार ऑक्सीजन और छोटे वेंटीलेटर के सपोर्ट पर थी। बीते दिनों प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण की रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद उन्हें संजय गांधी पीजी मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंसेस में आइसोलेट किया गया था। मंत्री जी की बेटी भी कोरोना पॉजिटिव थी। वह ठीक हो गयी।

वहीँ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी मंत्री कमला रानी के आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। अपने शोक संदेश में राज्यपाल ने कहा कि कमल रानी का अचानक निधन स्तब्धकारी है। वे लोकसभा के सदस्य के रूप में काफी सक्रिय रही। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना एवं सहानुभूति व्यक्त की है।

आपको बता दें की मंत्री कमला रानी वरूण का पार्थिव शरीर लखनऊ से सीधे कानपुर जाएगा। वहां पर कोविड प्रोटोकॉल के तहत उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published.