खनियाधाना क्षेत्र: प्राकृतिक सौंदर्य का खजाना, पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा मिलने पर मिलेंगे रोजगार के नए अवसर


पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा मिलने पर मिलेंगे रोजगार के नए अवसर

मनमोहक दृश्य से भरा पड़ा है पूरा क्षेत्र

प्राकृतिक सौंदर्य का खजाना है खनियाधाना क्षेत्र

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में जिले की सबसे बड़ी तहसील व सबसे दूरस्थ खनियाधाना क्षेत्र अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है. खनियाधाना में अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की शरण स्थली के रूप में विख्यात खनियाधाना प्राकृतिक सौंदर्य के लिए पूरे मध्यप्रदेश में जाना जा सकता था लेकिन प्रशासनिक और जनप्रतिनिधियों की अनदेखी की वजह से आज खनियाधाना व खनियाधाना क्षेत्र पर्यटन क्षेत्र के रूप में वह जगह नहीं बना पाया जोकि इस क्षेत्र को मिलनी चाहिए थी. खनियाधाना क्षेत्र को पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए फास्ट समाचार की टीम ने एक छोटी सी मुहिम चलाई और खनियाधाना के आसपास जो भी प्राकृतिक स्थल है उन स्थानों तक पहुंच कर उन्हें समाचार और सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के बीच में लाने की एक छोटी सी कोशिश की.

जनप्रतिनिधियों की अनदेखी का शिकार है खनियाधाना क्षेत्र

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर फेसबुक लाइव के माध्यम से पनरिया नाथ मंदिर के पास जंगल मे स्थित विशाल झरने को दिखाया गया जो झरना करीब 70 से 80 फिट नीचे गिर रहा है वही फिर 16 अगस्त को हमारी टीम ने दुवारा झरने का फ़ास्ट समाचार के माध्यम से लाइव चलाया. जब हमारी टीम ने लाइव चलाया उस समय इस झरने को कोई नही जानता था पर आज इस झरने को दूर दूर से लोग देखने और झरने का लुफ्त उठाने आ रहे है. जिसके फलस्वरूप आज दूर-दूर से पर्यटक इन जगहों को देखने के लिए और परिवार सहित घूमने के लिए आना शुरू हो गए हैं. दुर्गम रास्तों के होने की वजह से बहुत से पर्यटक निराश होकर यहां से जाते नजर आते हैं. और यही सबसे बड़ी विडंबना है यदि शासन प्रशासन इन मनमोहक जगहों तक पहुंचने के लिए रास्तों का निर्माण करा दे तो खनियाधाना क्षेत्र पर्यटन के क्षेत्र में एक अच्छी जगह बना सकता है पर खनियाधाना के जन प्रतिनिधि विधायक इस ओर ध्यान ही नही दे रहे. अगर यह लोग ध्यान दे तो खनियाधाना पर्यटन क्षेत्र में सबसे आगे होगा.


Leave a Reply

Your email address will not be published.