केस को ट्रांसफर किया जाना होगा अपमानजनक, बोले उद्धव ठाकरे


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को सुशांत सिंह मामले में मुंबई पुलिस पर सवाल उठाने वालों की निंदा की और कहा राज्य की पुलिस सुशांत सिंह राजपूत के मामले की जांच करने में सक्षम है। वहीं, केस को ट्रांसफर किया जाना, उनके लिए गलत होगा क्योंकि वे योद्धाओं की तरह कोरोना महामारी के खिलाफ लड़े हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा कि इस मामले में किसी को भी राजनीति नहीं करनी चाहिए। उन्होंने सुशांत के फैन्स से कहा कि उन्हें मुंबई पुलिस पर भरोसा करना चाहिए।

उद्धव ने इस मामले में विधान सभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस पर यह कहते हुए निशाना साधा कि उन्होंने पांच साल तक सीएम के रूप में काम करने के बावजूद मुंबई पुलिस की क्षमता पर संदेह किया है। मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, ‘मैं सुशांत सिंह राजपूत के प्रशंसकों को बताना चाहूंगा कि उन्हें मुंबई पुलिस पर भरोसा करना चाहिए और आपके पास जो भी जानकारी है, उसे साझा करनी चाहिए।’

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा था कि मामले की जांच को सीबीआई को सौंपने को लेकर ‘विशाल जन भावना’ है लेकिन राज्य की उद्धव ठाकरे नीत महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार ऐसा नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, ‘सुशांत सिंह राजपूत मामले में लोगों के मन में बहुत भावनाएं है। उनको लगता है कि कुछ छिपाया जा रहा है, नए खुलासे हुए हैं। इसलिए,लोग इसमें सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।’ फडणवीस ने कहा, ‘लेकिन राज्य सरकार मामले में सीबीआई जांच से इनकार कर रही है।’

इससे पहले महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने भी कहा था कि मुंबई पुलिस मामले की जांच करने में सक्षम है और इसलिए सीबीआई जांच की जरूरत नहीं है। वहीं, दूसरी ओर सुशांत के परिवार, फैन्स और बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल भी दाखिल की गई थी, जिसको कोर्ट ने खारिज कर दिया था। कोर्ट ने कहा था कि मुंबई पुलिस को जांच करने देना चाहिए।

इस मामले में सुशांत के पिता केके सिंह ने पिछले दिनों बिहार के पटना में एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। उन्होंने एक्ट्रेस पर सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने, पैसों को ट्रांसफर करने समेत कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसके बाद रिया ने शुक्रवार को वीडियो जारी करके कहा कि सच की जीत होगी। रिया ने कहा, ‘मुझे भगवान और न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है।’

मुंबई पुलिस ने निर्देशक संजय लीला भंसाली, फिल्म समीक्षक राजीव मसंद, अभिनेत्री संजना सांघी, राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती, कास्टिंग निर्देशक शानू शर्मा, फिल्मकार मुकेश छाबड़ा और आदित्य चोपड़ा समेत कई बॉलीवुड हस्तियों के बयान दर्ज किए हैं। पुलिस ने अब तक राजपूत के परिवार और उनके रसोइए समेत करीब 40 लोगों के बयान दर्ज किए हैं।

मामले की जांच सीबीआई से कराए जाने की मांग उठ रही है। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राम विलास पासवान, तेजस्वीर यादव समेत कई नेताओं ने मांग उठाई है। इस बीच प्रवर्तन निदेशालय ने सुशांत सिंह मामले में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। एजेंसी पैसे की लेनदेन की जांच करेगी।
पटना पुलिस जांच के सिलसिले में मुंबई पहुंची है। आरोप है कि मुंबई पुलिस बिहार पुलिस को सुशांत सिंह मामले में मदद नहीं कर रही है। इसी के बाद से मुंबई पुलिस पर सवाल उठाए जा रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.