चित्रकूट: मनरेगा में लाखों का घोटाला, ग्रामीणों ने सचिव और पंचायत मित्र के खिलाफ सौंपा ज्ञापन


दरअसल इस समय चित्रकूट के ग्राम पंचायतों में मनरेगा के काम जोरों पर है लेकिन काम करने वाले गांव के मजदूर इसीलिए परेशान है कि उनका समय से मजदूरी नही मिल पा रही है जिस कारण प्रवासी मज़दूरों सहित पहले गांव में रह रहे या मज़दूरों को भारी समस्याओं का सामान करना पड़ रहा है इसी को लेकर कर्वी ब्लाक के बरवारा ग्राम पंचायत में नरेगा की मजदूरी न मिलने के कारण आज एसडीएम और ब्लाक के वीडियो को ज्ञापन सौंपा है और ज्ञापन में बताया है कि जो लोग गांव के मनरेगा में काम करते है उनका समय से भुगतान नही किया जाता है और साथ ही ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि जिनके खाते में पैसे भेजे जाते है वह ज्यादातर नाबालिक और स्कूल के पढ़ने वाले छात्रो का है समय से जो लोग मनरेगा में काम करते है उनका भुगतान 4 माह से अभी तक नही किया गया है इस बारे में जब प्रधान से कहा जाता है तो उनका जवाब गोल मटोल करके देता है और कहता है कि यह सारे काम सचिव और गौरीशंकर के द्वारा कराया जाता है वही अपने रिश्तेदारों को काम पर लागते है एयर समय से हमारी मजदूरी का भुगतान नही करवाया जाता है वही मस्टररोल में फ़र्ज़ी जॉब कार्ड लगाकर ग्रामीणों को लूटने का काम किया जा रहा है साथ ही ग्रामीण पर्सन पुत्र श्यामलाल,लवलेश सिंह नीरज, जुगुल,कुलदीप ने बताया कि कहा कि हमारे साथ के डिमांड में जोड़कर मस्टर रोल भरी जाती है इसी में पैसे का जमकर खेल खेला जाता है और खेत के समतलीकरण का कार्य जिसके खेत में होता है उसके खाते में पैसे जाते ही नही है और पैसे उनके खातों में जाते है जिन्होंने आज तक काम नही किया और भुगतान कर दिया जाता है ग्रामीणों ने कहा कि अगर हमारे भुगतान समय से नही होता तो गांव के सैकड़ो लोग ब्लाक मुख्यालय में प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे.


Leave a Reply

Your email address will not be published.