रायबरेली से भी जल औए मिट्टी पहुँचेगी अयोध्या के नाम


रायबरेली। असद खान: 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर की आधार शिला रखी जायेगी। जिसमे देश के कई धामों व पवित्र स्थलों की मिट्टी ले जाई जा रही है। इसी कड़ी में आज रायबरेली के डलमऊ घाट से भी मिट्टी व गंगाजल लेकर विहिप व संतो की एक टोली अयोध्या के लिए रवाना हुई। इस दौरान विहिप के पदाधिकारियों ने बताया कि संगम से लेकर कई पवित्र स्थलों की मिट्टी वंहा पहुच चुकी है। डलमऊ डालभ्य ऋषि की तपोभूमि है और यंहा की पवित्र मिट्टी व गंगाजल से भी राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए।

बताते चले कि रायबरेली का डलमऊ क्षेत्र डालभ्य ऋषि की तपोभूमि है।यंही से पवित्र गंगा नदी भी बह रही है। इस कारण इस स्थान का महत्व बहुत ज्यादा है। जिले व आसपास के लोगो मे डलमऊ को एक पवित्र स्थल के तौर पर जाना जाता है।

इसी के चलते आज डलमऊ के बड़ा मठ के संतों व विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों का एक जत्था घाट से गंगाजल व मिट्टी लेकर अयोध्या के लिए रवाना हुआ। इनका मानना है कि डलमऊ डालभ्य ऋषि का आश्रम रहा और इतिहास में पवित्र स्थल के तौर पर दर्ज है। राम मंदिर के निर्माण में कई पवित्र स्थलों की मिट्टी अयोध्या पहुच चुकी है और हम भी यंहा से मिट्टी व गंगा जल लेकर राम मंदिर के निर्माण में सहयोग के लिए जा रहे है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.