किशोर का अपहरण कर अपहरणकर्ताओं ने किशोर के पिता को फोन और मैसेज कर 5 लाख की माँगी फिरौती


अमेठी। राजीव ओझा: हम बात कर रहे हैं अमेठी की, जहां पर सोमवार की रात घर से सामान लेने निकले एक किशोर का अपहरण हो गया। अपहरणकर्ताओं ने किशोर के पिता को फोन और मैसेज कर 5 लाख की फिरौती मांगी। गनीमत ये रहा कि समय रहते पुलिस को सूचना मिल गई। पुलिस ने नाकाबंदी किया तो तीन घंटे बाद अपहरणकर्ता किशोर को बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गए। पुलिस किशोर को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराकर मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।

घटना कल रात की है जहां गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र के कांग्रेस कार्यालय के पीछे वार्ड नं. 1 का शुभम शुक्ला, पुत्र प्रभाकर शुक्ला सब्जी खरीदने गया था। परिजनो के अनुसार कुछ समय बाद पिता ने बेटे को फोनकर कुछ सामान और लाने को बोला, तो बेटे कहा कि ठीक है। इसके बाद जब उसे आने में देर हुई तो फिर पिता ने बेटे को फोन किया। लेकिन इस बार उसका फोन दूसरे ने उठाकर गाली दिया, कहा कि जल्दी से 5 लाख रुपए की व्यवस्था करो। ये भी कहा कि तुम्हारे बेटे की साइकिल ट्रांसफार्मर के पास फेंक दी है। रुपए की व्यवस्था में देर हुई तो बेटे को भी मारकर वहीं फेंक देंगे।

इसके बाद पिता और पड़ोसी अनुभव मिश्रा के नंबर पर फिरौती का मैसेज आया। तब तक ये मामला पुलिस के संज्ञान में आ चुका था। पुलिस ने सभी एरिया सील किया तो अपहरणकर्ता शुभम को बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गए। लड़के के चाचा दिवाकर शुक्ला ने बताया की देर शाम मेरा भतीजा अपनी साइकिल से दवा लाने के लिए गया। उसके बाद गायब हो गया था घर नहीं आया बाद में मेरे भैया के मोबाइल पर फोन और मैसेज पर आया कि 5,00,000 रुपये लेकर आ जाओ और अपने बेटे को सही सलामत ले जाओ तो लड़के के पिता ने तुरंत अपने कोतवाली गौरीगंज में सूचना दी सूचना मिलते ही अमेठी पुलिस अधीक्षक ने अपनी पूरी टीम के साथ एक्टिव होकर उस लड़के को दो घंटे के अंदर ढूंढ निकाला।

अमेठी पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि जैसे ही मुझे शाम 8:05 पर सूचना प्राप्त हुई अबिलंब हमने अपनी पूरी टीम के साथ पूरे शहर की नाकाबंदी कर दी इस शहर की जितनी भी बाहर आने जाने वाली सड़कें हैं सबको हमने बंद कर दिया हमारी सारी टीम उस लड़के की तलाश करना शुरू कर दी उसके साथ जो भी हमारी तकनीकी सुविधाएं हैं हमने सब को एक्टिव कर दिया और हमारी टीम की सक्रियता से हमने 2 घंटे के अंदर लड़के को केया हॉस्पिटल के पीछे से बेहोशी की हालत में बरामद कर लिया जिसको इलाज के लिए जिला अस्पताल में भेज दिया गया

सीओ गौरीगंज ने बताया कि एसपी के निर्देश पर सर्विलांस टीम, एसओजी टीम और पुलिस को एक्टिव कर शहर के सभी रास्ते को सील कर दिया गया। होटल, ढाबा, सराय की सघन चेकिंग की गई। इसका परिणाम रहा के बेटे को सकुशल बरामद कर लिया गया है। शुभम के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। लड़के का बयान दर्ज किया जा रहा है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.