सहारनपुर: वन गुर्जरों को लड़नी पड़ रही है अपने अस्तित्व की लड़ाई, पूरे देश को दूध पिलाने वाली प्रजाति चिंता में


सहारनपुर। सुशिल कपिल: तहसील क्षेत्र के शिवालिक वन प्रभाग में बसे अट्ठारह सौ से ज्यादा वन गुर्जर परिवारों को अपना अस्तित्व बचाने के लिए लड़ाई लड़नी पड़ रही है। शिवालिक वन प्रभाग को टाइगर रिजर्व पार्क प्रस्तावित किए जाने के बाद प्रशासन की ओर से वन गुर्जरों को जंगल खाली करने के लिए कहा गया है जिसके बाद वन गुर्जर दो बार बड़ी पंचायतें कर चुके हैं। वन गुर्जरों का आरोप है कि सहारनपुर प्रशासन कानूनों को ताक पर रखकर हमें बेघर करना चाह रहा है। हम पशुपालक लोग हैं हमारे और हमारे पशुओं के लिए रहने की व्यवस्था किए बगैर प्रशासन हमें हमारे घरों से निकलने के लिए बाध्य कर रहा है। वन गुर्जरों ने चेतावनी दी है कि यदि उन्हें उत्तराखंड की तर्ज पर रहने और आजीविका के लिए जमीन न दी गई तो वे अपने पशुओं व बच्चों सहित बड़े आंदोलन के लिए मजबूर होंगे और इसी स्थिति में किसी भी अव्यवस्था के लिए प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा।

पिछले शनिवार को समाधान दिवस पर पहुंचे सहारनपुर कमिश्नर से जब वन गुर्जरों की समस्या के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके रहने आदि की समुचित व्यवस्था करने के बाद ही उन्हें विस्थापित किया जाएगा हम लोग शिवालिक जंगल में सर्वे करा रहे हैं जो जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। उधर मामले को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है। वीरवार को कोठरी गांव में हुई पंचायत में पहुंचे सहारनपुर सांसद फजलुर्रहमान ने कहा है कि वन गुर्जर खुद को अकेला ना समझें हम उन्हें अधिकारों से वंचित नहीं होने देंगे हम इस मामले को संसद में उठाएंगे जरूरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे।

समाजवादी पार्टी के कैराना विधायक चौधरी नाहिद हसन वन गुर्जरों की पंचायत में पहुंचे उन्होंने कहा कि गुर्जर समाज को सरकार हल्के में ना लें यदि वन गुर्जरों के साथ अन्याय हुआ तो कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक का गुर्जर समाज सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेगा। एसडीएम के द्वारा वन गुर्जरों को धमकाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस रवैया को समाज कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। कैराना विधायक ने वन गुर्जरों को अपना समर्थन देते हुए कहा कि वे कानून को बिल्कुल भी अपने हाथ में ना लें अपने हक की लड़ाई कानून के दायरे में रहकर लड़े, हम आपकी आवाज को विधानसभा में उठाएंगे और आपके अधिकारों की रक्षा के लिए मांग करेंगे।

इस मौके पर बसपा व सपा के क्षेत्रीय कार्यकर्ता कई गांव के ग्राम प्रधान व समाज के मुख्य लोग मौजूद रहे। वन गुर्जर युवा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अमीर हमजा ने बताया कि शिवालिक जंगल में टाइगर रिजर्व पार्क के प्रस्ताव की आड़ लेकर प्रशासन जंगलों में रहकर गुजर-बसर करने वाले वन गुर्जरों को बेपटरी करने की कोशिश में लगा हुआ है जो हम नहीं होने देंगे।


Leave a Reply

Your email address will not be published.