मेरठ: ट्रांसपोर्टर के बेटे का हुआ अपहरण 50 लाख की मांगी फिरौती


मेरठ। मनीश परासर: प्रदेश में एक बार फिर अपहरण का सिलसिला शुरू हो गया है प्रदेश सरकार तमाम कोशिशों के बावजूद भी कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने में फेल साबित होती दिखाई दे रही है उत्तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी से लेकर मुख्यमंत्री तक ने क्राइम कंट्रोल और जीरो टॉलरेंस नीति के तहत काम करने के लिए सख्त आदेश दिए हुए हैं लेकिन उसके बावजूद अपराध दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है ऐसे ही अपहरण के केसों में भी इजाफा हो रहा है इन पर स्थानीय पुलिस से लेकर तमाम वरिष्ठ अधिकारी भी रोक लगाने में नाकाम साबित हो रहे हैं।

अपहरण का ताजा मामला मेरठ के शास्त्री नगर सेक्टर 12 का है जहां पर ट्रांसपोर्टर का परिवार रहता है वहीं से उनके बेटे का दिनदहाड़े अपहरण हो गया जिसकी एवज में 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई है बता दे शास्त्री नगर सेक्टर 12 से दिनदहाड़े 50 लाख की फिरौती के लिए ट्रांसपोर्टर के बेटे का अपहरण कर लिया गया। फिरौती का मैसेज बच्चे की बहन के मोबाइल पर आया बच्चे की तलाश में एसएसपी से लेकर क्राइम ब्रांच और एसटीएफ लगी हुई है जबकि डॉग स्क्वायड की भी मदद इस केस में ली जा रही है तो वही पुलिस सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी खंगाल रही है।

नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्री नगर कॉलोनी में आसिफ अली अपने परिवार के साथ रहते हैं। इनका हापुड़ जनपद में ट्रांसपोर्ट का कारोबार है आशीष के पिता हजरत अली की अचानक से तबीयत बिगड़ गई हजरत अली राधना में रहते हैं तो आसिफ अपनी पत्नी के साथ राधना चला गया घर पर आसिफ का 15 साल का बेटा आरिफ और 13 साल की बेटी आयशा थी। दोनों की ऑनलाइन कक्षा चलने की वजह से आसिफ में अपना मोबाइल आयशा को दे रखा था।

आयशा के मुताबिक दोपहर के समय दोनों छत पर खेलने के लिए चले गए। इसी बीच आरिफ की कक्षा शुरू होने वाली थी। आरीफ नीचे आकर मोबाइल से ऑनलाइन क्लास अटेंड करने लगा। दोपहर के बाद आयशा के मोबाइल पर आरिफ को अगवा करने का एक मैसेज आया और इसे छोड़ने के लिए 50 की फिरौती मांगी गई। अचानक घर में आरिफ की तलाश की लेकिन पता न चलने पर अपने पिता को मोबाइल पर जानकारी दी। आसिफ और उसकी पत्नी शास्त्री नगर अपने घर पहुंचे।

उन्होंने यूपी 112 पर बच्चे के अपहरण होने की सूचना दी तो मौके पर एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह,एएसपी कृष्ण बिश्नोई और इंस्पेक्टर नौचंदी संजय वर्मा कई थानों की पुलिस के साथ पहुंची, मौके पर ही क्राइम ब्रांच,फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड की टीम को भी बुलाया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी भी आसिफ के घर पहुंचे और उन्होंने पुलिस की कई टीमें बनाकर बच्चे की तलाश में लगा दी है।

एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह का कहना है जिस कॉपी पर बच्चे के अगवा होने का मैसेज लिख कर घर पर छोड़ा गया था वह कॉपी भी घर से ही बरामद कर ली गई है फिलहाल अभी इस केस में कुछ भी कहा नहीं जा सकता लेकिन कई टीमें बनाकर बच्चे की तलाश में लगा दी है जो भी आरोपी होगा उस पर सख्त कार्यवाही करके उसको जेल भेजा जाएगा बच्चे का अपहरण किस वक्त हुआ इसकी भी जानकारी की जा रही है पुलिस तमाम पहलुओं पर कार्य कर रही है फॉरेंसिक टीम और क्राइम ब्रांच को भी लगा दिया गया है जल्द ही बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया जाएगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published.