गोंडा में महंत पर हमले का मामला: मायावती बोलीं- संत की सरकार में अब संत सुरक्षित नहीं

  • इटियाथोक क्षेत्र में श्रीराम जानकी मंदिर के महंत को शनिवार रात मारी गई थी गोली, लखनऊ में चल रहा इलाज
  • अभी तक मुख्य आरोपी फरार, लखनऊ में मिल रही लोकेशन, एसपी ने थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर किया

उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में पुजारी सम्राट दास को भूमाफिया द्वारा गोली मारे जाने के मामले को लेकर बसपा अध्यक्ष मायावती ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर तंज कसा है। मायावती ने कहा कि, संत की सरकार में अब संत भी सुरक्षित नहीं। इससे खराब कानून-व्यवस्था की स्थिति और क्या हो सकती है? वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी योगी सरकार पर निशाना साधा है। गहलोत ने कहा कि राजस्थान में हमारे यहां घटना हो गई थी जिसमें पुलिस ने तत्परता दिखाकर तुरंत मुख्य मुजरिम को गिरफ्तार भी कर लिया। यूपी सरकार को चाहिए कि वो भी गोंडा (उत्तर प्रदेश) में पुजारी को गोली मारे जाने की घटना में जल्द कार्रवाई करे।

मायावती का ट्वीट

संजय दूबे को सौंपी गई इटियाथोक थाने की कमान
महंत सम्राट दास पर हमले के बाद इटियाथोक थाने के प्रभारी संदीप सिंह को लाइन हाजिर कर दिया गया है। उनकी जगह धानेपुर के थानाध्यक्ष संजय दूबे को इटियाथोक थाने का थानाध्यक्ष बनाया गया है। दरअसल, राम जानकी मंदिर के पुजारी सीताराम दास ने थानाध्यक्ष संदीप सिंह पर लापरवाही बरतने के आरोप लगाए थे। दोनों के बीच बातचीत का एक ऑडियो भी आया है। जिसमें एक माह पहले बमबाजी की घटना का जिक्र करने के साथ ही मंदिर से सुरक्षा हटाए जाने की शिकायत की गई थी।

मुख्य आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर
इस मामले में नामजद भूमाफिया अमर सिंह को पुलिस 24 घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पकड़ नहीं सकी है। उस पर दो दर्जन से ज्यादा गंभीर मामले दर्ज हैं। इतने मामले दर्ज होने के बाद उस पर अभी तक न तो गैंगस्टर की कार्रवाई की गई न ही एनएसए लगाया गया। सूत्रों की मानें तो अमर सिंह की आखिरी लोकेशन लखनऊ में मिली है।

मठ संरक्षक ने कहा- हमले की सीबीआई जांच हो

राम जानकी मंदिर मठ के संरक्षण पूर्व सांसद डॉ. रामविलास वेदांती हैं। रविवार की देर शाम वे रामजानकी मंदिर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। उन्होंने इस वारदात के पीछे विपक्षी दलों का हाथ बताया है। कहा कि इस तरह की घटना से भाजपा सरकार को बदनाम करने की साजिश की जा रही है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मठ मंदिरों व संत समाज को बदनाम करने का साजिश है। समाज के लोगों को आपस में लड़ाने का षडयंत्र किया जा रहा है। महंत पर हमले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई होनी चाहिए।

यह है पूरा मामला

दरअसल, इटियाथोक कोतवाली क्षेत्र के तिर्रेमनोरमा स्थित रामजानकी मंदिर के महंत सम्राट दास को शनिवार रात सोते समय भूमाफिया ने गोली मार दी थी। गोली उनके बाएं कंधे पर लगने के बाद आरपार हो गई थी। मंदिर के 150 बीघा जमीन पर भूमाफिया की नजर गड़ी है। जिसको लेकर आए दिन विवाद होता रहता है। जिस वक्त यह वारदात हुई उस वक्त मंदिर में दो होमगार्ड सुरक्षा में तैनात थे। महंत की हालत स्थिर है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *