अयोध्या: ग्रामीणों ने कोटेदार पर लगाया आरोप, राशन कार्ड धारकों को नहीं मिल रहा उचित मात्रा में राशन


अयोध्या। मयंक श्रीवास्तव: अयोध्या जनपद में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन वितरण में गड़बड़ी करने का मामला सामने आया है। मवई विकासखंड क्षेत्र में ग्रामीणों ने कोटेदार पर राशन न देने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का कहना है कि कोटेदार इस संबंध में शिकायत करने पर धमकी भी देते हैं। इससे परेशान ग्रामीणों ने उपखण्ड अधिकारी से कोटेदार को हटाने की मांग की है। राशन के बजाए मिलती है धमकी अयोध्या के मवई उपखंड के कसारी गांव के कोटेदार पर ग्रामीणों ने राशन न देने का आरोप लगाया है।

ग्रामीणों का कहना है कि लॉकडाउन की अवधि से लेकर अब तक कोटेदार की ओर से राशन कार्ड धारकों को उचित मात्रा में राशन नहीं दिया जा रहा है। इस मामले में कोटेदार से शिकायत करने जाते हैं तो उन्हें धमकी दी जाती है। मामले में कोटेदार रामसरन के विरुद्ध ग्रामीणों की शिकायत पर प्रशासन की ओर से जांच की जा चुकी है। यही नहीं, कोटेदार रामसरन यादव को राशन वितरण में अनियमितता बरते जाने का दोषी पाया गया था। खाद्य और रसद विभाग की ओर से कड़े निर्देश मिलने के बावजूद कोटेदार की मनमानी कम नहीं हुई है।

ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार अपने साथ दबंग लोगों को बैठाता है। जब ग्रामीण अपने कार्ड पर राशन लेने जाते हैं तो उन्हें राशन दिए बिना लौटा दिया जाता है। इसका विरोध करने पर उन्हें धमकाया जाता है। मामले में ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी रुदौली से लिखित शिकायत की है। उन्होंने कोटेदार रामसरन के विरुद्ध निष्पक्ष जांच कर कोटा निरस्त करने की मांग की। ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार के दोषी पाए जाने पर महज दो-तीन लोगों से सुलहनामा करावाकर कार्रवाई की औपचारिकता पूरी कर ली गई। अधिकारियों की मिलीभगत का खामियाजा पूरी ग्राम सभा को भुगतना पड़ रहा है। निर्धन और गरीब परिवारों को उनके हिस्से का राशन उन्हें प्राप्त नहीं हो रहा है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.