जीरादेई: दिनदहाड़े बेख़ौफ़ हथियार लैस अपराधियों ने युवक को मारी गोली



जीरादेई (सिवान)| सिवान जिला में विगत कई माह से बेख़ौफ अपराधियों के द्वारा दिनदहाड़े गोली मारने का मामला प्रकाश में आ रहा है। अपराधी बेखौफ होकर खुलेआम गोली चला रहे हैं। अपराधियों के द्वारा गोली मारकर लोगों को मौत के घाट उतार दिया जा रहा है।
खूनी संघर्ष के खेल से लोग काफी आक्रोशित है तथा लोगो के द्वारा कानून व्यवस्था व पुलिस प्रशासन पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।
क्षेत्र में बढ़ रहे अपराध से लोग घर से निकलने में भी सोच रहे हैं। आये दिन खून खराबा की घटनाओं से लोगों का दिल तक दहल उठा है। जीरादेई थाना क्षेत्र में एक ऐसा ही दिनदहाड़े बेख़ौफ़ हथियार लैस अपराधियों के द्वारा गोली मारने का मामला प्रकास में आया है। थाना क्षेत्र के अकोल्ही पंचायत के सिसहानी नहर पर अज्ञात अपराधियों के द्वारा मैरवा से समान लेकर घर जा रहे युवक को घात लगाये अपराधियों ने गोली मार दी। बताया जा रहा है कि घायल युवक मैरवा से सब्जी लेकर अपने घर आसाव जा रहा था इसी क्रम में जीरादेई थाना क्षेत्र के सिसहानी नहर पर पहले से घात लगाये हथियार लेस अपराधियों ने पीठ पर गोली मार दी जिससे युवक घायल होकर गिर गया। बंदूख की आवाज सुन आस-पड़ोस के लोगों को दौड़े आते देख हथियार लैस अपराधी बाइक से फरार हो गये, स्थानीय लोगों ने समय रहते घायल युवक को तुरंत सिवान अस्पताल भेज दिया। उसके पश्चात घटना के संबंध में परिजनों को इत्तला की गयी, परिजन भी घटनास्थल पर पहुंच गये। घायल युवक आसाव थाना क्षेत्र के छितनपुर गांव निवासी पशुराम सिंह के पुत्र, रंजेश कुमार सिंह हैं। वहीं उधर मामले की सूचना पाकर स्थानीय पुलिस भी दल बल के साथ पहुंचकर मामले की जांच में जुट गयी।
प्रशासन ने घटना के संदर्भ में स्थानीय लोगों से पूछताछ की। स्थानीय लोगों का कहना था की गोली की आवाज सुनने के बाद हम लोग घटनास्थल पर पहुंचे, जहां पर सिर्फ युवक गोली लगने से घायल होकर गिरा पड़ा था और अज्ञात अपराधी बाइक से फरार हो चुके थे।

गोली मारने का क्या है कारण

बताया जाता है कि घायल हुए युवक का पूर्व में एक आपसी विवाद था। जिस विवाद को लेकर युवक को गोली मारा गया है। हालांकि युवक के द्वारा अभी तक किसी का भी नाम नहीं लिया गया है। पुलिस युवक से पूछताछ कर रही है। हालांकि आसंका जाहिर की जा रही है कि पूर्व में हुए आपसी विवाद को ही लेकर युवक को गोली मारी गयी है।

क्या कहती है प्रशासन

जीरादेई थाना अध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर ने मामले की जांच करने के पश्चात बताया कि जांच के दौरान कुछ विशेष हाथ नहीं लगा, युवक की गोली लगने के कुछ खून के धब्बे सड़क पर पड़े थे। जांच के क्रम में बाइक क्षतिग्रस्त थी और युवक का समान गिरा पड़ा था। बंदूख से चलाई गयी गोली के खोखे भी खोजे गये जो नहीं मिल पाये।
थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर ने आगे कहा कि युवक के द्वारा अभी तक आवेदन नही दिया गया है। आवेदन आने के उपरांत पुलिस अपना कार्य करे तथा अपराधियों को किसी भी हालत में नहीं छोड़ेगी।
क्षेत्र मे बढ़ रहे अपराध पर नकेल कसने के लिए जीरादेई पुलिस सदैव तत्पर रही है और रहेगी। अपराधी जीरादेई में इस तरह की घटना को अंजाम देने से बाज नहीं आयेंगे, तो इन अपराधियों पर उचित से उचित कार्यवाही की जायेगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published.